Festival Special Shayari

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली
खुशियों से भर जाए आपकी झोली
आप सबको मेरी तरह से
हैप्पी होली

वसंत ऋतु की बहार,

वसंत ऋतु की बहार,
चली पिचकारी उड़ा है गुलाल,
रंग बरसे नीले हरे लाल,
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार
हैप्पी होली

खुशियों से हो ना कोई दुरी

खुशियों से हो ना कोई दुरी
रहे न कोई ख्वाहिश अधूरी
रंगो से भरे इस मौसम में
रंगीन हो आपकी दुनिया पूरी
हैप्पी होली

लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमां

लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमां पर
भारत का नाम होगा सब की जुबान पर
ले लेंगे उसकी जान या दे देंगे अपनी जान
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिंदुस्तान पर
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

शहीदों का सपना जब सच हुआ

शहीदों का सपना जब सच हुआ
हिंदुस्तान तब स्वतंत्र हुआ
आओ सलाम करें इन वीरों को
जिनकी वजह से भारत गणतंत्र हुआ।
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

राष्ट्र के लिए मान-सम्मान रहे

राष्ट्र के लिए मान-सम्मान रहे
हर एक दिल में हिन्दुस्तान रहे
देश के लिए एक-दो तारीख नही
भारत माँ के लिए ही हर सांस रहे

आज जब तिरंगा देखा मैंने

आज जब तिरंगा देखा मैंने
मेरे वतन की याद आने लगी
आज जब राष्ट्रगान सुना मैंने
मुझे वतन की खुशबू सताने लगी

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,

मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
नदी के किनारे सुरज की लाली,
जिंदगी में आये खुशियों की बहार,
आपको मुबारक हो पतंगों का त्योहार..
हैप्पी मकर संक्रांति

सूरज की राशी बदलेगी,

सूरज की राशी बदलेगी,
कुछ का नसीब बदलेगा,
यह साल का पहला पर्व होगा,
जब हम सब मिल कर खुशियाँ मनाएंगे
हैप्पी मकर संक्रांति

तन में मस्ती और मन में उमंग

तन में मस्ती और मन में उमंग
दे कर सबको अपनापन गूढ़ में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
और भर लें आकाश में अपने रंगहेली,
सदा खुश रहें आप और आपकी
मकर संक्रांति शुभकामनाएं