वसंत ऋतु की बहार,

वसंत ऋतु की बहार,
चली पिचकारी उड़ा है गुलाल,
रंग बरसे नीले हरे लाल,
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार
हैप्पी होली

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली
खुशियों से हो ना कोई दुरी
Rate this: