• वो मिली भी तो क्या मिली

    वो मिली भी तो क्या मिली बन के बेवफा मिली,
    इतने तो मेरे गुनाह ना थे जितनी मुझे सजा मिली।

    क्यों बहाने करते हो मुझसे
    अल्फाज़ तो बहुत है
    Rate this: