• तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो

    तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
    दिल मेरा था और धड़क रहा था वो।
    प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
    आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो।

    ना जाने इतनी मुहब्बत कहां से आई
    तुम दूर हो मगर दिल में ये एहसास होता है
    Rate this: