• Image Shayari

    लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमां

    लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमां पर
    भारत का नाम होगा सब की जुबान पर
    ले लेंगे उसकी जान या दे देंगे अपनी जान
    कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिंदुस्तान पर
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

    शहीदों का सपना जब सच हुआ

    शहीदों का सपना जब सच हुआ
    हिंदुस्तान तब स्वतंत्र हुआ
    आओ सलाम करें इन वीरों को
    जिनकी वजह से भारत गणतंत्र हुआ।
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

    राष्ट्र के लिए मान-सम्मान रहे

    राष्ट्र के लिए मान-सम्मान रहे
    हर एक दिल में हिन्दुस्तान रहे
    देश के लिए एक-दो तारीख नही
    भारत माँ के लिए ही हर सांस रहे

    आज जब तिरंगा देखा मैंने

    आज जब तिरंगा देखा मैंने
    मेरे वतन की याद आने लगी
    आज जब राष्ट्रगान सुना मैंने
    मुझे वतन की खुशबू सताने लगी

    क्या कीमत अदा करू,

    क्या कीमत अदा करू,
    जो तूने बदहाल किया है
    तूने जिस्म जला कर मेरा,
    मेरी रूह का श्रृंगार किया है

    मंदिर की घंटी, आरती की थाली,

    मंदिर की घंटी, आरती की थाली,
    नदी के किनारे सुरज की लाली,
    जिंदगी में आये खुशियों की बहार,
    आपको मुबारक हो पतंगों का त्योहार..
    हैप्पी मकर संक्रांति

    सूरज की राशी बदलेगी,

    सूरज की राशी बदलेगी,
    कुछ का नसीब बदलेगा,
    यह साल का पहला पर्व होगा,
    जब हम सब मिल कर खुशियाँ मनाएंगे
    हैप्पी मकर संक्रांति

    तन में मस्ती और मन में उमंग

    तन में मस्ती और मन में उमंग
    दे कर सबको अपनापन गूढ़ में जैसे मीठापन
    होकर साथ हम उड़ाएं पतंग
    और भर लें आकाश में अपने रंगहेली,
    सदा खुश रहें आप और आपकी
    मकर संक्रांति शुभकामनाएं

    हो आपके जीवन में खुशियाली,

    हो आपके जीवन में खुशियाली,
    कभी भी न रहे कोई दुख देने वाली पहेली,
    सदा खुश रहें आप और आपकी
    मकर संक्रांति शुभकामनाएं

    लोग कहते हैं की आप बेहतर करे

    लोग कहते हैं की आप बेहतर करे
    लेकिन सच तो यह है
    की वो कभी नहीं चाहते की
    आप उन से बेहतर करें !!!