• Dost Shayari

    ये किसने कहा यारी बराबरी


    ये किसने कहा यारी बराबरी वालो से होती है,
    ये तो अनमोल है इसमे सब बराबर होता है।

    लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी

    लोग कहते हैं ज़मीं पर किसी को खुदा नहीं मिलता,
    शायद उन लोगों को दोस्त कोई तुम-सा नहीं मिलता।

    वो अच्छा है तो अच्छा है,

    वो अच्छा है तो अच्छा है,वो बुरा है तो भी अच्छा है,
    दोस्ती के मिजाज़ में, यारों के ऐब नहीं देखे जाते।

    तूफानों ​की दुश्मनी से न बचते

    तूफानों ​की दुश्मनी से न बचते तो खैर थी​,
    ​साहिल से दोस्तों के भरम ने डुबो दिया​।

    खुदा के घर से कुछ फरिस्ते फरार हो गये

    खुदा के घर से कुछ फरिस्ते फरार हो गये,
    कुछ पकडे गये और कुछ हमारे यार हो गये।

    दोस्ती दर्द नहीं

    दोस्ती दर्द नहीं, खुशियों की सौगात है,
    किसी अपने का ज़िंदगी भर का साथ है,
    ये तो दिल का वो खूबसूरत एहसास है,
    जिसके दम से रोशन ये सारी कायनात है।

    टूटा हुआ देखकर

    मैं तुझे बार-बार इसलिए समझाता हूँ
    ए-मेरे दोस्त..
    तुझे टूटा हुआ देखकर मैं खुद भी टूट जाता हुं

    सच्ची दोस्ती तो वो है

    दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,
    दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
    अरे सच्ची दोस्ती तो वो है..
    जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|