• 2 line Shayari

    सोचा था आज तेरे सिवा

    सोचा था आज तेरे सिवा कुछ और सोचुँ !
    अभी तक इस सोच में हुँ कि और क्या सोचुँ !!

    पक्षी पर्यावरण के

    पक्षी पर्यावरण के संकेतक हैं.
    यदि वे खतरे में हैं तो हम जानते हैं कि
    हम भी जल्द ही खतरे में होंगे.

    आप रुक सकते है

    आप रुक सकते है लेकिन समय नहीं,
    इसलिए धीरे ही सही लेकिन चलते रहे।

    नींद चुराने वाले पूछते हैं

    नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यों नही,
    इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यों नही

    तुम जो मतलबी होते

    कितना अच्छा होता तुम जो मतलबी होते,

    और तुम्हें सिर्फ मुझसे ही मतलब होता..

    सुनो कितना फर्क एक पागल शब्द में

    Romantic Love Shayari Image

    सुनो कितना फर्क एक पागल शब्द में.

    जमाना कहे तो गुस्सा और तुम कहो तो प्यार आता है.

    हम किताब थे किताब ही रह गए

    2 Line Shayari Image

    हम किताब थे किताब ही रह गए,
    तुम कहानी थे और बदलते चले गये।

    फासले तो बढ़ा रहे हो

    फासले तो बढ़ा रहे हो मगर इतना याद रखना
    के मोहब्बत बार बार इंसान पर मेहरबान नहीं होती.

    आसमान पर किसी के ठिकाने

    आसमान पर किसी के ठिकाने नहीं होते,
    जो जमीं के नहीं होते, वो कहीं के नहीं होते ।

    मेरी शख्सियत के बारे में

    मत पूछना मेरी शख्सियत के बारे में,

    हम जैसे दिखते है वैसे ही लिखते है…