• Miss You Shayari

    अनजान थे हम अनजान

    अनजान थे हम अनजान ही रहने दो,
    किसी की यादों में हमें पल पल यूँ ही मरने दो,
    क्यों करते हो बदनाम लेकर नाम हमारा,
    अब तो इस नाम को गुमनाम रहने दो।

    वो कह कर गई थी

    वो कह कर गई थी कि लौटकर आऊँगी,
    मैं इंतजार ना करता तो क्या करता,
    वो झूठ भी बोल रही थी बड़े सलीके से,
    मैं एतबार ना करता तो क्या क्या करता।

    कभी उनकी याद आती है

    कभी उनकी याद आती है कभी उनके ख्व़ाब आते हैं,
    मुझे सताने के सलीके… तो उन्हें बेहिसाब आते हैं…

    जिसकी यादों में रात गुजर जाती है,

    जिसकी यादों में रात गुजर जाती है,
    जिसकी लिए आँखें भर आती है,
    मुश्किल है उसको ये कह पाना,
    तेरे बिन धड़कन भी थम जाती है।

    वो क्या जाने, यादों की कीमत

    वो क्या जाने, यादों की कीमत,
    जो ख़ुद यादों को मिटा दिया करते हैं,
    यादो का मतलब तो उनसे पूछो जो,
    यादों के सहारे जिया करते हैं।

    हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है

    हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है,
    शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है
    कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम,
    और एक वो है, जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है.

    दुख का समा मुझे घेर लेता है

    दुख का समा मुझे घेर लेता है,
    जब तेरी याद में ये पल भर के लिए होता है,
    ना जाने कब वो दिन आएगा,
    जब हर पल इस ज़िन्दगी का तेरे साथ गुजर जाएगा।

    कल उसकी याद पूरी रात आती रही

    कल उसकी याद पूरी रात आती रही
    हम जागे पूरी दुनिया सोती रही
    आसमान में बिजली पूरी रात होती रही
    बस एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही

    हाँ खलती हैं कमी तुम्हारी

    हाँ खलती हैं कमी तुम्हारी,
    पर सबके सामने रो भी नही सकते।।
    तुम्हारी उन बातों को यादों को भुलाकर हम सो भी नही सकते।
    ओर न जाने किस मोड़ पर आ गयी है, मोहब्बत मेरी,
    उनको खो भी नही सकते और उनके हो भी नही सकते।

    यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए

    यादें अक्सर होती हैं सताने के लिए,
    कोई रूठ जाता है फिर मान जाने के लिए,
    रिश्ते निभाना कोई मुश्किल तो नहीं,
    बस दिलों मे प्यार चाहिए उसे निभाने के लिए!