• कई बार बिना गलती के भी

    Image Shayari

    कई बार बिना गलती के भी गलती मान लेते है हम,
    क्योंकि डर लगता है, कहीं कोई अपना हमसे रुठ ना जाए !!

    jiski life me 36 Aayengi
    दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे
    Rate this: