• काश मुझे भी सिखा देते तुम भूल जाने का हुनर,

    काश मुझे भी सिखा देते तुम भूल जाने का हुनर,
    मैं थक गई हूं हर लम्हा हर सांस तुम्हें याद करते करते…

    तेरी दोस्ती में ज़िन्दगी में तूफान मचाएंगे
    हम तो बने ही थे तबाह होने के लिए,
    Rate this: