जिस के होने से मैं खुद

जिस के होने से मैं खुद को मुक्कम्मल मानता हूँ,
मेरे रब के बाद मैं बस अपने माँ-बाप को जानता हूँ।

दुनिया में केवल “पिता”
तुम मिल गए तो मुझ से
Rate this: