गुस्सा करने का हक

love shayari

बेशक तुम्हे गुस्सा करने का हक़ है मुझ पर पर नाराजगी मैं
कहीं ये मत भूल जाना की हम बहुत प्यार करते हैं तुमसे.

बात गुरूर की नहीं
Badalna Aata Nahi
Rate this: