दोस्ती ग़म नहीं बल्कि खुशियों की सौगात है

दोस्ती ग़म नहीं बल्कि खुशियों की सौगात है,
यह रिश्ता देता ज़िन्दगी भर साथ है,
है दोस्ती एहसासों का ऐसा मेल,
जिसके बल पर जगमग यह पूरी कायनात है।

आज जरूरत है जिनकी वो पास नही है
अब जानेमन तू तो नहीं
Rate this: