• Diwali Shayari

    हर घर में दिवाली हो

    Diwali Shayari Wallpaper

    हर घर में दिवाली हो, हर घर में दिया जले
    जब तक ये रहे दुनिया जब तक संसार चले
    दुःख, दर्द, उदासी से हर दिल महरूम रहे
    पग पग उजियालो में जीवन की ज्योति जले.
    दिवाली मुबारक

    Diwali Shayari on our Great Army

    Army Soldiers Diwali Shayari

    आज दीपावली मनाने से पहले देश के उन वीरों को भी याद करें
    जो दिन-रात हमारे चैन-सुख के लिये सीमा पर निगरानी रखते हैं.

    ऐसी आए झूम के यह दीवाली आपकी

    Diwali Shayari Image

    दियो की रोशनी से झिलमिलता आँगन हो,
    पटाखो की गूंज से आसमान रोशन हो
    ऐसी आए झूम के यह दीवाली आपकी,
    हर तरफ खुशियों का ही मौसम हो!!

    रौशनी का सैलाब

    diwali image shayari

    कह दो अंधेरों से कहीं और घर बना लें
    मेरे मुल्क में रौशनी का सैलाब आया है.

    यह दिवाली लाये आप की ज़िन्दगी में

    Diwali Shayari Photo

    होठों पेय हंसी आँखों में ख़ुशी गम का कहीं नाम नहीं
    यह दिवाली लाये आप की ज़िन्दगी में इतनी खुशियां
    जिसकी कभी शाम ना हो
    शुभ दीपावली

    दिवाली की शुभकामनाएं

    Diwali Shayari Image

    मुस्कुराते हँसते दीप तुम जलाना
    जीवन में नई खुशियों को लाना
    दुःख दर्द अपने भूलकर
    सबको गले लगाना, सबको गले लगाना
    आपको इस दिवाली की शुभकामनाएं.

    त्यौहार रोशनी का आया

    Diwali Shayari with Photos

    तमाम जहाँ जगमगाएगा
    फिर से त्यौहार रोशनी का आया
    कोई तुम्हें हमसे पहले
    ना देदे बधाई
    इसलिए
    ये पैगाम ए मुबारक
    सबसे पहले हमने भिजवाया
    “दिवाली मुबारक”

    ऐसी आये झूम के ये दिवाली

    Diwali Shayari Image

    दीयों की रोशनी से झिलमिलाता आँगन हो
    पटाखों की गूंजों से आसमान रोशन हो
    ऐसी आये झूम के ये दिवाली
    हर तरफ खुशियों का मौसम हो
    आप सभी को दिवाली मुबारक.

    आप सभी को दिवाली मुबारक

    एक दुआ मांगते है हम अपने भगवान से
    चाहते है आपकी ख़ुशी पुरे ईमान से
    सब हसरतें पूरी हो आपकी
    और आप मुस्कुराएं दिल-ओ-जान सें
    आप सभी को दिवाली मुबारक

    Diwali ke din ajeeb baat ho gayi

    Diwali ke din ajeeb baat ho gayi
    Wo baat kuch khas aise ho gayi

    Ek haseena se mulakaat ho gayi
    Muskaan uski mujhko bha gayi

    Jalta diya hath me liye pass aayi
    Mubarak ho diwali keh k wo gayi

    Uski meethi aawaz lubha si gayi
    Kaano mein mishri ghul si gayi

    Khusbu hawa me bikher si gayi
    Mujh pe jaadu sa chala hi gayi

    Aankho me surma lagayi huyi
    Baalo ko phoolo se sajayi huyi

    Aanchal hawa mein lehraati huyi
    Sapne naye naye dikha si gayi

    Dil mein pyar ki low jala ke gayi
    Diwali meri roshan wo kar gayi