• दिल तोड़ना सजा है मुहब्बत की!

    दिल तोड़ना सजा है मुहब्बत की!
    दिल जोड़ना अदा है दोस्ती की!
    मांगे जो कुर्बानियां वो है मुहब्बत!
    और जो बिन मांगे कुर्बान हो जाये वो है दोस्ती!

    सच्चे दोस्त हमें कभी गिरने नहीं देते,
    किस्मत वालों को ही मिलती है
    Rate this: