• चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही

    चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है,
    याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है।

    तुम मिल गए तो मुझ से
    “पहली मोहब्बत के लिए
    Rate this: