• Bewafa Shayari

    मोहब्बत का नया दौर

    Bewafa Shayari Image

    ये उनकी मोहब्बत का नया दौर है,
    जहाँ कल मैं था आज कोई और है।

    फ़र्ज़ था जो मेरा निभा दिया मैंने

    Sad Shayari Image

    फ़र्ज़ था जो मेरा निभा दिया मैंने,
    उसने माँगा जो वो सब दे दिया मैंने,
    वो सुनके गैरों की बातें बेवफ़ा हो गयी,
    समझ के ख्वाब उसको आखिर भुला दिया मैंने.

    प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था

    Bewafa Shayari Image

    प्यार किया था तो प्यार का अंजाम कहाँ मालूम था,
    वफ़ा के बदले मिलेगी बेवफाई कहाँ मालूम था,
    सोचा था तैर के पार कर लेंगे प्यार के दरिया को,
    पर बीच दरिया मिल जायेगा भंवर कहाँ मालूम था.

    प्यार तो हमने किया है

    sad shayari

    उसके चेहरे पर इस क़दर नूर था,
    कि उसकी याद में रोना भी मंज़ूर था,
    बेवफा भी नहीं कह सकते उसको ज़ालिम,
    प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था।

    सनम बेवफा है

    सनम बेवफा है,
    ये वक्त बेवफा है,
    हम शिकवा करें भी तो किस्से,
    कमबख्त ज़िन्दगी भी तो वेबफा है।

    आईना की तरह

    Bewafa Shayari

    तु भी आईने की तरह बेवफा निकला,
    जो सामने आया उसी का हो गया.

    मुझे वो छोड़ गया

    मुझे वो छोड़ गया ये कमाल है उस का,
    इरादा मैंने किया था कि छोड़ दूँगा उसे।

    प्यार में बेवाफाई मिले तो

    प्यार में बेवाफाई मिले तो गम न करना;
    अपनी आँखे किसी के लिए नम न करना;
    वो चाहे लाख नफरते करें तुमसे;
    पर तुम अपना प्यार कभी उसके लिए कम न करना।

    महसूस हुआ तब

    आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
    महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,

    करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
    पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए!

    क्या बताऊँ मेरा हाल

    क्या बताऊँ मेरा हाल कैसा है;
    एक दिन गुज़रता है एक साल जैसा है;
    तड़पता हूँ इस कदर बेवफाई में उसकी;
    ये तन बनता जा रहा कंकाल जैसा है।